कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1 नोट्स | Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF

Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi: प्यारे विद्यार्थियों अगर आपने भी क्लास ११ में साइंस स्ट्रीम लिया है तो आपको साइंस विषय में जरूर रूचि रही होगी। साइंस विषय में अगर आपको बने बनाये नोट्स मिल जाते हैं तो आपको अन्य विषयों के लिए काफी वक़्त मिल जाता है। इसीलिए आज हम आपके लिए लेकर आएं हैं Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF जिसे आप आसानी से अपने मोबाइल या कंप्यूटर पर डाउनलोड करके पढ़ और समझ सकते हैं।

तो फिर चलिए बिना किसी देरी के कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1 नोट्स – भौतिक जगत नोट्स का अभ्यास करें।

Link: Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF

आप नीचे दिए गए लिंक के माध्यम से Physics Class 11 Chapter 1 Notes (भौतिक जगत) को डाउनलोड कर सकते हैं।

Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF Download
PDF NamePhysics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF
PDF Pages28
PDF Size1.3 MB
CategoryNotes
Languageहिंदी / Hindi
DownloadAvailable

कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1 नोट्स भौतिक जगत नोट्स
कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1-नोट्स भौतिक जगत

Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF | कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1 नोट्स –

विज्ञान (Science)

“भौतिक जगत में जो भी घटित होता हैं उसका क्रमबद्ध अध्ययन विज्ञान कहलाता है। इसकी कई शाखायें होती हैं-भौतिक विज्ञान, रसायन विज्ञान, सामाजिक विज्ञान, भूगर्भ विज्ञान, राजनीति विज्ञान, वनस्पति विज्ञान, गणित आदि।

भौतिक विज्ञान (Physics)

“विज्ञान की वह शाखा जिसमें प्रकृति और प्राकृतिक परिवर्तनों के मूल नियमों का अध्ययन किया जाता है, भौतिक विज्ञान कहलाती है।” भौतिकी की मुख्य शाखाओं को दो मुख्य वर्गों में विभजित किया जाता है-चिरसम्मत भौतिकी तथा आधुनिक व क्वान्टम भौतिकी।

आधुनिक भौतिकी (Modern Physics)

इसकी निम्नलिखित शाखाएँ है:

  • आपेक्षिकता (relativity) : जब वस्तुएं बहुत अधिक गति से गतिमान होती है तो इनका अध्ययन इस शाखा के अंतर्गत किया जाता है अर्थात इस शाखा में उन वस्तुओं का अध्ययन किया जाता है जो प्रकाश के वेग के लगभग बराबर गति से गतिमान होते है।
  • क्वांटम यांत्रिकी (quantum mechanics) : इसमें बहुत कम ऊर्जा स्तरों का , कण की द्वेत प्रकृति , नए नए सिद्धांत आदि का अध्ययन किया जाता है। अर्थात इसमें उन कणों का अध्ययन किया जाता है जिनमें ऊर्जा बहुत छोटे स्केल पर होती है , इस प्रकार की गणना व अध्ययन इस शाखा के अन्दर ही कर सकते है।
  • परमाणु भौतिकी (atomic physics): इस शाखा में परमाणु के बारे में अध्ययन किया जाता है जैसे परमाणु में इलेक्ट्रान की व्यवस्था , परमाणु की संरचना कैसी होती है तथा परमाणु के क्या क्या गुण होते है , इस प्रकार की जानकारी हमें भौतिकी की इस शाखा में प्राप्त होती है।
  • नाभिकीय भौतिकी (nuclear physics) : इस शाखा में परमाणु की नाभिक की व्यवस्था , स्थिति , गुण आदि का अध्ययन किया जाता है।

आइन्सटीन का द्रव्य तथा ऊर्जा सम्बन्ध (Mass and Energy Relation of Einstein)

द्रव्य तथा ऊर्जा मूल रूप से एक ही राशि हैं तथा इन्हें परस्पर रूपान्तरित किया जा सकता है। अर्थात् द्रव्यमान को ऊर्जा में तथा ऊर्जा को द्रव्यमान में रूपान्तरित किया जा सकता है।

ऊर्जा = द्रव्यमान x (निर्वात में प्रकाश की चाल) 

संरक्षण नियम

  • रेखीय संवेग संरक्षण नियम-इस नियम के अनुसार “बाह्य बल की अनुपस्थिति में किसी निकाय का कुल रेखीय संवेग संरक्षित रहता है।” उदाहरण-बन्दूक से गोली का दागना, रॉकेट नोदन आदि।
  • ऊर्जा संरक्षण नियम-इस नियम से “न तो ऊर्जा को उत्पन्न किया जा सकता है और न ही नष्ट किया जा सकता है। उसे तो केवल एक रूप से दूसरे रूप में परिवर्तित किया जा सकता है।” उदाहरण-सौर बैटरी में सौर ऊर्जा का रूपान्तरण विद्युत ऊर्जा में किया जाता है।
  • कोणीय संवेग संरक्षण नियम-बाह्य बल आघूर्ण की अनुपस्थिति में निकाय का कुल कोणीय संवेग नियत रहता है।
  • आवेश संरक्षण नियम-“किसी विलगित निकाय का कुल आवेश संरक्षित रहता है।”

प्रकृति के मूल बल (Fundamental Forces in Nature)

प्रकृति के चार मूलबल होते हैं

गुरुत्वाकर्षण बल:

यह बल आकर्षक बल होता है। यह बल किन्ही दो पिंडों के बीच उनके द्रव्यमानों के कारण उत्पन्न होता है। गुरुत्वाकर्षण बल के पिंडों द्रव्यमान तथा उनके बीच की दूरी पर निर्भर करता है एवं पिंडों के बीच स्थित माध्यम पर निर्भर नहीं करता है। इस बल के संबंध में वैज्ञानिक न्यूटन के नियम दिया जिसके अनुसार, ” किन्हीं दो पिंडों के बीच उत्पन्न गुरुत्वाकर्षण बल उनके द्रव्यमानों के गुणनफल के अनुक्रमानुपाती होता है एवं उनके बीच की दूरी के वर्ग के व्युत्क्रमानुपाती होता है।

विद्युत चुंबकीय बल

आवेशित कणों के बीच कार्य करने वाले बल को विद्युत चुंबकीय बल कहते हैं। आवेशित कणों के बीच कार्य करने वाले बल को कूलाम के नियम द्वारा स्पष्ट किया जाता है। यह बल आकर्षण तथा प्रतिकर्षण दोनों हो सकता है यह बल कूलाम के नियम का पालन करता है। यह बल कम दूरी पर अधिक प्रभावी होता है एवं दूरी बढ़ाने पर इसका प्रभाव कम हो जाता है। विद्युत चुंबकीय बल संरक्षी बल होते हैं।

नाभिकीय बल

नाभिक के भीतर उपस्थित रहे बल जो प्रोटोनों तथा न्यूट्रॉनों को परस्पर बांधे रखता है प्रबल नाभिकीय बल होता है। यह बल आकर्षण बल होता है यह बल आवेश पर निर्भर नहीं करता है अर्थात जितना बल दो प्रोटोनों के बीच होगा उतना ही बल एक प्रोटोन के बीच होगा। यह बल अत्यंत प्रबल बल होता है अब तक जितने भी बलों के बारे में पढ़ा है उनमें सबसे प्रबल बल यही होता है।

दुर्बल नाभिकीय बल

यह बल भी प्रबल नाभिकीय बल की ही तरह लघु परास वाला बल होता है। यह बल आकर्षण तथा प्रतिकर्षण हो सकता है यह बल भी कूलाम के नियम का पालन करता है यह बल कम दूरी पर प्रभावी होता है एवं दूरी अधिक होने पर इसका प्रभाव नहीं होता है। यह बल गुरुत्वाकर्षण बल से प्रबल होता है एवं नाभिकीय बलों से दुर्बल होता है।


Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi: भौतिक जगत नोट्स

जैसा कि आपने देखा भौतिक जगत विज्ञान की एक महत्वपूर्ण शाखा है जिसमें हम दुनिया के भौतिक आधारभूत तत्वों का अध्ययन करते हैं। यह अध्ययन हमें विज्ञानिक तरीके से सोचने और समझने की क्षमता प्रदान करता है। इसलिए Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi का महत्व और भी बढ़ जाता हैं।

Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF: Download Now 👇

Below, you can download Physics Class 11 Chapter 1 Notes: भौतिक जगत नोट्स 👇

कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1 नोट्स भौतिक जगत नोट्स
कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1-नोट्स भौतिक जगत

कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1 नोट्स

Handwritten Notes of Physics Class 11 Chapter 1

11th Class Physics Notes PDF Download In Hindi: Important Question Answer

भौतिक जगत की महत्वपूर्ण विशेषताएँ (Key Features of the Physical World)

  1. प्राकृतिक नियमितता (Natural Regularity): भौतिक जगत में नियमितता होती है, जिसका अध्ययन करने से हम नियमों की पहचान कर सकते हैं।
  2. प्राकृतिक प्रक्रियाएँ (Natural Processes): यहां हम विभिन्न प्राकृतिक प्रक्रियाओं के बारे में जानकारी प्राप्त
  3. करते हैं, जैसे कि गर्मी प्रक्रिया और बिजली उत्पन्नि।

Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi

दोस्तों ऊपर दिए गए भौतिक विज्ञान की उपयोगिता के अलावा ब्रह्माण्ड का अध्ययन करते समय भी हमें भौतिक विज्ञान की ही मदद लेनी पड़ती है, और ब्रह्माण्ड के रहस्यों को खोजने में हमारे पास यहाँ अद्भुत विज्ञानिक तरीके होते हैं।

हमें उम्मीद है कि अब आपने Physics Class 11 Chapter 1 Notes in Hindi PDF को डाउनलोड कर लिया होगा। अगर आपको भौतिक जगत नोट्स प्राप्त करने में किसी भी समस्या का सामना करना पढ़ रहा है तो कमेंट सेक्शन में हमें जरूर बतायें और हाँ कक्षा 11 भौतिकी अध्याय 1 नोट्स को अपने मित्रों के साथ share करना ना भूलें।

धन्यवाद और शुभकामनाएं।

Read More:

Spread the Knowledge

Leave a Comment